Dosa recipe in Hindi

डोसा रेसिपी एक बहुत ही लोकप्रिय दक्षिण भारतीय व्यंजन है।

डोसा को अक्सर चटनी और सांबर के साथ परोसा जाता है।

डोसा को पहली बार 5वीं सदी में सुनना, इतिहासकारों के अनुसार, तब कर्नाटक के उड्डपी के मंदिर के आस-पास की गलियां डोसा के लिए फ़ेमस थीं.
तमिल साहित्य में भी इसका ज़िक्र है. एक और तरह का मसाला डोसा बनाया जाता है जिसका इतिहास मसूर महाराजा वडयार से जुड़ा हुआ है

Dosa recipe in Hindi।
 Dosa recipe in Hindi।

मसाला डोसा दक्षिण भारतीय व्यंजनों की विशेषता है। वे चावल और काली दाल के किण्वित घोल से बने होते हैं।
दाल को भिगोया जाता है और फिर पीसकर पेस्ट बना लिया जाता है। फिर इस पेस्ट को चावल के साथ मिलाया जाता है
और रात भर किण्वन के लिए छोड़ दिया जाता है। अगले दिन, बैटर को दोसा नामक पतली क्रेप्स में तला जाता है।

मसाला डोसा कई तरह की फिलिंग से भरा होता है, जैसे आलू, प्याज, मटर, पनीर, आदि। सबसे लोकप्रिय प्रकार का मसाला डोसा
मैसूर मसाला डोसा है। यह मसालेदार आलू के मिश्रण से भरा होता है और चटनी और सांबर के साथ परोसा जाता है।

😋Pav Bhaji Recipe in Hindi

समय: 14 घंटे
पकाने का समय: 25 मिनट
कितने लोगो के लिए: 4

डोसा रेसिपी

कुल सामग्री
3/4 कप इडली/डोसा के चावल (पेरबोइल्ड राइस)
3/4 कप चावल
1/2 कप धुली उड़द की दाल
1/4 चम्मच मेथी दाना
1/2 चम्मच चना दाल, वैकल्पिक
1/2 कप पानी या जरूरत अनुसार
नमक अपने अनुसार
डोसा पकाने के लिए तेल या रिफाइंड ऑयल

|Dosa recipe in Hindi| step by step|

step-1
डोसा का घोल बनाने के लिए सभी सामग्री को लीजिए
उड़द की दाल और मेथी दाना मैन सामग्री हैं।
चने की दाल डोसे का  सुनहरा  रंग करने के लिए डाली जाती है

step-2
दोनों तरह के चावल एक साथ दो से तीन बार धो ले और फिर 2 कप पानी में 4-5 घंटे के लिए भिगो दें।

step-3
चने की दाल और उड़द की दाल को एक साथ पानी में धो ले फिर उन्हें मेथी दाने
के साथ 4 से 5 घंटे के लिए एक कप पानी में भिगो दें

step-4
कटोरी में भिगोई हुई उड़द की दाल में से सारा  पानी निकाल लीजिऐ
 (भिगोया हुआ पानी फके मत वह अगले स्टेप में दाल पीसने के वख्त उपयोग में लिया जाएगा)।
उड़द की धुली दाल और चना दाल और मेथी दाने को मिक्सी के बडे जार में डालें।

step-5
जरुरत के अनुसार पानी डाले और बारीक़ पीस ले (पिछले स्टेप में रखा हुआ पानी डालें, अगर ज्यादा पानी की जरुरत हो तो नोरमल पानी डाले)। ½(डेड) कप उरद की दाल
(भिगोने से पहले ½ कप) पीसने के लिए लगभग 1½ कप पानी चाहिए। पानी की मात्रा उड़द की दाल की गुणवत्ता पर निर्भर करती है, इसलिये जरुरत के मुताबिक कम या ज्यादा पानी डाले।
step-6
पीसी हुई उड़द की दाल बहुत ज्यादा पतली या बहुत ज्यादा गाढ़ी नहीं होनी चाहिए। उसे एक बड़े पतीले (या कंटेनर) में दाल को निकाल लीजिऐ

step-7
चावल में से सारा पानी निकाल दे और उन्हें मिक्सी की वही जार में डालें। जार कितनी बड़ी है या छोटी उसके अनुसार आप चावल एक या दो बारी में (बैच में) पीस सकते है।

step-8
आवश्यकता के मुताबिक पानी डाले और बारीक़ पीस ले। एक ही बार में बहुत ज्यादा पानी नहीं डाले; एक समय में 1-2 चम्मच ही पानी डालें (लगभग ½ कप पानी)। चावल को पीसने के लिए उड़द दाल की तुलना में कम पानी की जरूरत होती है। पीसे हुए चावल का घोल पीसी हुई उड़द दाल के घोल के जैसा एकदम मुलायम नहीं होगा, यह हल्का दानेदार रहेगा। उसे भी वही उस पतीले में निकाल लीजिऐ।

step-9
नमक डालें और अच्छी तरह से चमचे से मिला ले। घोल बहुत ज्यादा पतला या गाढ़ा नहीं होना चाहिए। उसे एक थाली से ढककर रख दे  और खमीर उठाने (फरमेंट) के लिए 9-10 घंटे या रात भर के लिए कमरे के तापमान पर रखे। ठंड के मौसम के दौरान खमीर उठाने के लिए घोल को गर्म स्थान में (या ओवन के अंदर भी रख सकते है) रखें।

step-10
खमीर उठने के बाद (फरमेंट होने के बाद) घोल फुला फुला नजर आऐगा और जब आप उसे कलछी से हिलायेंगे तब घोल में छोटे छोटे बुलबुले दिखेंगे। कलछी से घोल को हिलाओ। अगर घोल गाढ़ा लग रहा है तो कुछ चम्मच पानी डालें और अच्छी तरह से मिला ले (डोसे का घोल इडली के घोल की तुलना में पतला होता है)।

step-11
एक नॉन-स्टिक तवे या लोहे के तवे को नोरमल आंच पर गरम करे। तवे के ऊपर पानी की कुछ बूँदें छिड़के। अगर पानी कुछ ही सेकंड के भीतर सूख जाती है तो तवा सही गर्म है। तवे पर 1/2-टीस्पून तेल डाले और समान रूप से गीले कपडे से फैला दे। कलछी में घोल ले, तवे की सतह पर बीच में डाले और कलछी को गोल गोल घूमाते हुए गोल आकार में पतला फैला दीजिये।

step-12
डोसा के किनारों के आसपास 1-चम्मच तेल या घी / करारा डोसा बनाने के लिए बटर डालें या करारा डोसा बनाने के लिए ब्रश से समान रूप से तेल / घी / बटर फैला दे)।

step-13
जब नीचे की सतह हल्के भूरे रंग की होने लगे और किनारों ऊपर की ओर आने लगे तब तक पकने दे, इसमें लगभग 2 मिनट का समय लगेगा।

step-14
इसे पलटें और एक मिनट के लिए पकने दे। अगर आप पतला डोसा बना रहे हैं (जैसा कि तस्वीर में दिखाया गया है) तो दूसरी बाजू पकाने की जरूरत नहीं है। डोसे को एक प्लेट में निकाले। अगला डोसा बनाने से पहले गीले कपड़े से तवे को साफ कर लें (यह डोसे को तवे से चिपकने से रोकने के लिए जरुरी है)। बाकी बचे घोल में से इसी तरह (स्टेप-11 से स्टेप-13 तक की प्रक्रिया का पालन करे) डोसे बना ले। करारा सादा डोसा तैयार है।

My tips

याद रखे की चावल को पीसने मे कम पानी लगता है।

घोल का खमीर गमियो मे 7 से 8 घंटे मे और सदियो मे 10 से 12 घंटे मे उठता है।

डोसा को सुनहरा रंग देने के लिऐ चने की दाल ले

डोसा तवे पर ना चिपकने के लिऐ

पुरे तवे पर तेल लेगाऐ

हर एक डोसे के लिए हर बार तवे पर गीले कपडे से जरूर पोछे

Tay more recipe